मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के 7 सूत्र।

मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के 7 सूत्र।

मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के 7 सूत्र।

अच्छे मानसिक स्वास्थ्य (mental health) वाले लोग अपने जीवन में वह सब प्राप्त कर सकते हैं जो वे पाना चाहते हैं। क्योंकि उनके पास नकारात्मकता नहीं होती है। आखिर क्यों सभी लोगों का मानसिक स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता। इस लेख (मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के 7 सूत्र।) में हम जानेंगे कि कैसे हम अपने मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं। आप अपनी सकारात्मक ऊर्जा से जो भी सोचेंगे और commitment करेंगे तो आप उसे जरूर प्राप्त कर लेंगे।

  1. सकारात्मक सोच | positive thinking.
  2. ताजा एवं शाकाहारी भोजन | fresh and vegetarian food.
  3. बुक्स रीडिंग | Books reading.
  4. रात को जल्दी सोएं | Sleep early at night.
  5. योग और व्यायाम | Yoga and exercise.
  6. सुबह जल्दी उठें | Wake up early in the morning.
  7. लोगों से जुड़े रहें | conected with people.

1. सकारात्मक सोच | Positive thinking –


सकारात्मकता हमारे शरीर को एक नई ऊर्जा प्रदान करती है, इसलिए सकारात्मकता को अपनाएं। कोशिश करें नकारात्मक लोगों से दूर रहने की। क्योंकि नेगेटिविटी आपके कैरियर और सफलता में बाधा डालती है। सबसे पहले कुछ नया करने का संकल्प लें। 

जब आप सफल लोगों के बारे में पढ़ेंगे और बातें करेंगे तो आप का दिमाग भी उन लोगों की तरह सोचने लगेगा और आप के चारों ओर भी सकारात्मक ऊर्जा विद्यमान हो जायेगी। ऐसा करने से आपकी mental health भी अच्छी बनी रहेगी।

इस भी पढ़ें :- सकारात्मक सोच | Positive thinking

2. ताजा एवम् शाकाहारी भोजन | Fresh and vegetarian food –

ताजे फल एवं सब्जियों में वे सब विटामिन, प्रोटीन और खनिज मिलते हैं जिनकी हमारे शरीर को आवश्यकता होती है। जब आप अच्छा खाएंगे तो आपका मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा होगा।

बासे खाने से हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है बजाय मजबूत होने के। मोटापा और आलस्यपन जैसी अनेकों बीमारी हमें जकड़ लेती हैं। इसलिए शाकाहार अपनाएं और अपने शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाए।

इसे भी पढ़ें : रोग प्रतिरोधक क्षमता को कैसे बढ़ाएं | how to increase immunity power?

3. बुक्स रीडिंग | Books reading –

किताब पढ़ना भी एक अपने आप में कला है। विद्यार्थी जीवन में तो हम बहुत सारी किताबें पढ़ते हैं लेकिन उसके बाद हम ये सब छोड़ देते हैं। क्योंकि हम समझते हैं कि विद्यार्थी जीवन ही है जिसमें पढ़ाई की जरूरत होती है। बल्कि सच्चाई तो ये है कि पूरा जीवन ही पढ़ने और नया सीखने के लिए बना है। अच्छे मानसिक स्वास्थ्य और ज्ञानार्जन के लिए किताबों का अध्ययन बहुत आवश्यक है।

इससे हमारा दिमाग स्थिर रहता है और हमें  पॉजिटिव एनर्जी की feelings दिलाती है। यदि आप अपना मानसिक स्वास्थ्य (Mental health) बेहतर करना चाहते हैं तो  सेल्फ मोटिवेशनल books पढ़ें। इससे हमे अपने जीवन में कुछ नया एवम् बड़ा करने की प्रेरणा मिलेगी। और साथ ही नकारात्मकता से भी छुटकारा मिलेगा।

4. रात को जल्दी सोएं | Sleep early at night –

यदि आप mentally और physically healthy रहना चाहते हैं तो अपनी दिनचर्या में थोड़ा बदलाव करने की आवश्यकता है। रात में देर रात तक जागने से हमारे शरीर और मस्तिष्क को आराम नहीं मिल पाता है। अगर रात को आप देर से सोते हैं तो सुबह जल्दी उठने में परेशानी होती है। 

ये क्रिया हमारे साथ daily repeat होने लगती है। प्रतिदिन के तनाव के कारण हमारा मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित होता है। इसलिए रात को जल्दी सोने की आदत बनाएं।

इसे भी पढ़ें :- तनाव को कम करने के उपाय।

5. योग और व्यायाम को अपने जीवन में शामिल करें | Include yoga and exercise in your life –

योग हमारे शरीर को एवम् मस्तिष्क को स्वस्थ बनाए रखता है। योग एवम् व्यायाम करने से हमारा मानसिक स्वास्थ्य दुरूस्त रहता हैै। हमारे शरीर में एक नई ऊर्जा का संचार होने लगता है। यदि हमारा मन स्वच्छ होगा तो विचार भी अपने आप स्वच्छ आने लगेंगे। और आपको ऐसा आभास होगा कि आपकी जिंदगी धीरे – धीरे बदल रही है। इसलिए योग और व्यायाम को अपनी जिंदगी का हिस्सा बनाएं।

इसे भी पढ़ें : योग से मानसिक स्वास्थ्य को अच्छा बनाएं।

6. सुबह नींद से जल्दी जागें | Wake up early in the morning –

हमारे वेद और पुराण भी कहते हैं कि सुबह सूर्योदय से पहले उठें। सुबह का वातावरण सबसे शुद्ध रहता है इसलिए सुबह टहलने की आदत डालें। सुबह टहलने के बहुत सारे फायदे हैं। योग करें, व्यायाम करें जिससे आपका पूरा दिन स्फूर्ति भरा होने वाला है। कोई भी काम करने में आपका मन लगेगा और आप उसे अच्छे से अंजाम दे पाएंगे।

7. लोगों से जुड़े रहें | connected with people

आज अगर आप किसी से भी पूछो या बात करो तो सब अपने – अपने काम – धंधे में इतने व्यस्त हैं कि किसी को किसी से बात करने का भी समय नहीं है। दोस्तों और संबंधियों के बीच की दूरियां बढ़ रही हैं।

थोड़ा सा समय निकालकर दोस्तों से बात करते रहें, ज्यादा नहीं तो महीने में एक बार मिलने की कोशिश करें। अगर मन में कोई दुःख या परेशानी हो तो उसे दोस्तों के साथ शेयर कर के समाधान निकाला जा सकता है। नहीं तो अकेलापन बढ़ने से भी अनेक समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं।

यदि आप मानसिक स्वास्थ्य (mental health) को बेहतर करना चाहते हैं तो उपर्युक्त बिंदुओं पर अमल करें। आप पाएंगे कि आपकी जिंदगी में धीरे – धीरे खुशहाली आना शुरू हो गई है। और चारों तरफ खुशहाली का वातावरण है क्योंकि नकारात्मकता को तो आपने त्याग दिया है।

दोस्तो आपको ये पोस्ट (मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के 7 सूत्र।) कैसी लगी? हमें कमेंट करके बताएं, क्योंकि आपके कमेंट हमारे लिए बहुत महत्त्वपूर्ण हैं। यदि आपको ये आर्टिकल अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर अवश्य करेंं।

-: जय हिन्द:-

11 thoughts on “मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के 7 सूत्र।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *