The time management | समय प्रबंधन।

The time management | समय प्रबंधन।

Time management

The time management | समय प्रबंधन।

आजकल की व्यस्त लाइफ में हर किसी को समय की कमी से गुजरना पड़ रहा है। चाहे वो व्यक्तिगत जीवन हो या फिर व्यवसायिक जीवन। दरअसल परमात्मा ने यहां किसी को अधिक सुन्दर बनाया है तो किसी को कुरूप। किसी को बुद्धिमान बनाया है तो किसी को मंदबुद्धि। किसी को बहुत अमीर बनाया है तो किसी को बहुत गरीब। लेकिन उसने समय सबको बराबर दिया है एक दिन में 24 घंटे। समय ही ऐसी दौलत है जिसे आप किसी बैंक में जमा नहीं कर सकते हो।

“आप ये कैसे कह सकते हो कि आपके पास पर्याप्त समय नहीं है? आपके पास एक दिन में उतने ही घंटे हैं जितने लुई पाश्चर, मदर टेरेसा, डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम, लियोनार्डो द विंची और अल्बर्ट आइंस्टाइन के पास थे।”

– एच जैक्सन ब्राउन

What is time management | समय प्रबंधन क्या है?

यदि आप जीवन में कुछ बनना चाहते हैं या फिर कुछ पाना चाहते हैं। तो यह अनिवार्य है कि आप समय का सर्वश्रेष्ठ उपयोग करना सीख लें। वास्तव में time management लोगों को कम समय में अधिक और बेहतर कार्य करने में सक्षम बनाता है। यदि आपने इसे (The time management | समय प्रबंधन।) करना सीख लिया। तो आप इस संसार में वो सब प्राप्त कर सकते हैं जो आप पाना चाहते हैं। फिर चाहे वो दौलत हो, शोहरत हो, सुख और सफलता हो।

“कलेंडर से आप धोखा ना खाएं। पूरे साल में उतने ही दिन होते हैं जिनका आप उपयोग करते हैं। एक व्यक्ति साल भर में केवल एक सप्ताह का मूल्य प्राप्त करता है। जबकि दूसरा व्यक्ति एक सप्ताह में ही पूरे साल का मूल्य प्राप्त कर लेता है।”

– चार्ल्स रिचर्ड्स

Definition of time management | समय प्रबंधन की परिभाषा।

भिन्न – भिन्न कार्यों को करने के लिए उनको प्राथमिकता से एवम् लगाए गए समय को क्रमबद्ध करके व्यवस्थित करना ही time management कहलाता है। समुचित समय प्रबंधन से दक्षता मिलती है, उत्पादकता बढ़ती है और कार्य सही समय पर पूरे होते हैं।

“आधुनिक औद्योगिक युग की सबसे प्रमुख मशीन भाप का इंजन नहीं, बल्कि घड़ी है।”

– लुईस ममफोर्ड

Why is time management important | समय प्रबंधन क्यों महत्त्वपूर्ण है?

यदि आप time management की कला सीख लेते हैं। तो आपके व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन दोनों ही में सकारात्मक बदलाव हो सकते हैं। Time management का अभिप्राय समय के कुशलतापूर्वक प्रयोग से है। समय प्रबंधन करने से आपकी उत्पादकता और काम की गुणवत्ता दोनों बढ़ेगी। समय प्रबंधन करने से आपका तनाव भी कम होगा।

To Increase motivation level | प्रेरणा स्तर बढ़ाने के लिए। :-

आप जब time management करना सीख जाते हैं और लक्ष्य निर्धारण कर लेते हैं। तब आपके अंदर motivation level स्वतः ही बढ़ने लगता है। आप अपना कार्य, लक्ष्य को मद्देनजर रखकर करने लगते हैं। जब आप अपना कार्य full motivation के साथ करेंगे तो आपको बोरियत नहीं होगी बल्कि खुशी मिलेगी। स्वयं को उस लक्ष्य (goal) के लिए सिद्ध करें जो आपने निर्धारित किया है। इसके लिए आपको मन लगाकर और मेहनत से काम करना होगा।

To Increase productivity | उत्पादकता बढ़ाने के लिए। :-

यदि किसी कार्य को व्यवस्थित एवम् क्रमबद्ध रूप से किया जाए तो वह निर्धारित समय या उससे पहले पूरा हो जाता है। जिससे उसकी उत्पादकता में वृद्धि होगी। जब आप time management कर लेते हैं या कोई योजना बना लेते हैं। तो उस कार्य को मानदंडों के हिसाब से करते हैं और लगन से करते हैं। इस प्रकार वह कार्य अच्छे से पूर्ण होता है और उसकी productivity भी बढ़ती है।

“जिसे करना हमारी शक्ति में है उसे न करना भी हमारी शक्ति में है।”

– अरस्तू

Increase quality of work | काम की गुणवत्ता में वृद्धि। :-

यदि आप स्वयं को time management के हिसाब से चलाएंगे तो आपको ये रियलाइज होगा। कि कौन सा कार्य महत्वपूर्ण है जिसे सबसे पहले करना है। इस प्रकार योजनाबद्ध किए गए कार्यों की गुणवत्ता में वृद्धि होने लगती है।

Stress reduction | तनाव में कमी।:-

Time management द्वारा आप अपने कार्य में कम प्रयासों में तथा कम समय में बेहतर परिणाम पा सकते हैं। लेकिन day by day काम pending होने से वर्कलोड बहुत बढ़ जाता है। जिसके कारण आप तनाव में आ जाते हैं और चिड़चिड़े हो जाते हैं। अपने परिवार को समय भी नहीं दे पाते हैं। इस प्रकार time management द्वारा तनाव को कम किया जा सकता है।

Achieve the goal by time management | लक्ष्य को पाने के लिए। :-

जो लोग अपनी जिंदगी का सफर एक लक्ष्य बनाकर तय करते हैं और time को manage करके मेहनत करते हैं। वे अपने लक्ष्य को एक न एक दिन अचीव कर ही लेते हैं। बिना लक्ष्य के आपकी जिंदगी सिर्फ गुजरती है और आप बहुत सी परेशानियों का सामना भी करते हैं। लेकिन सफलता हाथ नहीं लगती है। वहीं यदि आप अपने कार्य को systematic ढंग से करते हैं। और time management skills सीख लेते हैं तो आप अपने लक्ष्य को आसानी से हासिल कर सकते हैं।

For success and happiness | सफलता और खुशी के लिए। :-

जीवन में सफलता भी उन्हीं लोगों को प्राप्त होती है जो अपना समय व्यर्थ में अपव्यय नहीं करते हैं। आपका समय एक बहुमूल्य धन है लेकिन इसे आप किसी बैंक में जमा नहीं कर सकते हैं। आप तो इसका उपयोग कर सकते हैं। आप खर्च करने की चिंता ना करें, ये तो अपने आप खर्च होता रहता है। क्योंकि समय किसी के लिए नहीं रुकता है।

यदि आप इसका सदुपयोग करते हैं तो परिणाम आपके अनुकूल होंगे। अन्यथा दुरुपयोग करने या बिना लक्ष्य के परिणाम बहुत अच्छे नहीं होंगे। यदि आप time management skills सीख लेते हैं तो आप अपने कार्य अथवा व्यवसाय में सफल होने लगते हैं। और आपकी सफलता ही आपकी खुशी का रहस्य है। इसलिए आप खुश रहने के लिए को सब करें जो सफल लोग करते हैं।

Importance of time management for students | छात्रों के लिए समय प्रबंधन का महत्त्व। :-

किसी जॉब या बिजनेस में सेटल होने के बाद अक्सर लोग यही कहते हैं कि स्टूडेंट्स लाइफ बहुत अच्छी होती है। अगर देखा जाए तो वही लाइफ ही हमारे भविष्य की नीव है। उस समय में आपकी लगन और निर्णय ही आपके भविष्य का निर्माण करते हैं। विद्यार्थी जीवन दिन भर में कई गतिविधियों से गुजरता है। जैसे कि अलग – अलग विषयों का अध्ययन, खेल – कूद और स्वयं को फिट रखने के लिए व्यायाम, साथ ही साथ घर के छोटे – मोटे काम आदि।

यदि स्टूडेंट्स अपने जीवन में इसे (The time management | समय प्रबंधन।) करना सीख लेता है। और सभी एक्टिविटी को व्यवस्थित रूप से करता है। तो वह आज अपनी भविष्य की जिंदगी के लिए सफलता के वृक्ष लगा रहा है। जिस पर खुशी के फल – फूल आने वाले हैं, जिनका वो अवश्य आनंद उठाएंगे।

8 Principles of time management | समय प्रबंधन के 8 सिद्धांत।

यदि आप अपने जीवन में और बेहतर परिणाम चाहते हैं या फिर सफल होना चाहते हैं। तो time management के सिद्धांतों को अपनाएं। नीचे कुछ time management के सिद्धान्त बताए जा रहे हैं। इन पर अमल करें और अपना जीवन सफल बनाएं।

Log book of time management | समय प्रबंधन की लॉग बुक बनाएं। :-

Time management के सिद्धांतों में समय की लॉग बुक पहला सिद्धान्त है। इसके लिए आप एक डायरी लें और उसमें अगले दिन का रिकॉर्ड दर्ज करें। आप कल किस काम के लिए कितना समय खर्च करेंगे, उसे डायरी में नोट डाउन करें। ड्राइवरों की भाषा में इसे लॉग बुक कहते हैं जिसमें वे गाड़ी के किलोमीटर कितनी चली और कहां तक चली लिखते हैं। लॉगबुक के पहले कॉलम में एक्टिविटी के बजाए घंटे लिखें जिससे कि कोई अंतराल छूट ना जाए।

एक सप्ताह बाद पूरे रिकॉर्ड का अच्छे से विश्लेषण करें। आपको पता लगेगा कि आपने कितना समय इंटरनेट, मोबाइल फोन तथा TV आदि में खर्च किया। दोबारा जब आप अगले दिन के लिए नोट डाउन करते हैं तो उन कामों को पहले लिस्ट करें जो महत्त्वपूर्ण हैं। कम महत्वपूर्ण काम को उसके बाद और महत्त्व हीन कार्यों को बाद के लिए छोड़ें।

“घड़ी को न देखते रहें, वही करें जो ये करती है। चलते रहें।”

– सेम्युअल लिवेंसन

“सिर्फ वही इतिहास मूल्यवान है, जो हम आज बनाते हैं।”

– हेनरी फोर्ड

सबसे महत्वपूर्ण काम सबसे पहले करें :-

सामान्यतः हमारी दिनचर्या इस प्रकार की हो गई है। कि हमारे सामने जो काम आता है उसे हम करने लग जाते हैं। इस प्रकार आपका सारा समय उन छोटे – छोटे कार्यों को करने में चला जाता है। और आपके महत्त्वपूर्ण कार्य छूट जाते हैं। सदैव याद रखें कि सफलता महत्त्व हीन नहीं, महत्त्वपूर्ण कार्यों को करने से मिलती है। इसलिए अपनी प्राथमिकताएं स्पष्ट करें और अपना बहुमूल्य समय व्यर्थ में न गवाएं।

आपको ये स्पष्ट करना होगा कि कौन सा कार्य महत्वपूर्ण है और कौन सा अनिवार्य है। ऐसा करना ही time management है, और आसान भी। एक डायरी में ए, बी और सी तीन कॉलम बना लें। ए कॉलम में सबसे महत्वपूर्ण कार्य रखें, जिन्हें आप अनिवार्य समझते हैं। B कॉलम में उन्हें रखे जो अनिवार्य तो नहीं है लेकिन महत्त्वपूर्ण हैं। C कॉलम में ऐसे सामान्य कामों को रखें जो न तो अनिवार्य हैं और न ही महत्त्वपूर्ण हैं। सबसे पहले ए कॉलम के सभी काम पूरा करें। उसके बाद में बी कॉलम और यदि समय बचता है तो सी कॉलम के काम निबटा लें।

“मूर्ख व्यक्ति जो काम अंत में करता है, बुद्धिमान व्यक्ति उस काम को तत्काल कर देता है। दोनों एक ही काम करते हैं फर्क सिर्फ समय का होता है।”

– बाल्टेसर ग्रेशियन

स्वयं को व्यवस्थित रखें :-

अव्यवस्थित दिनचर्या आपके जीवन में बहुत सी मुश्किलें खड़ी कर देता है। इनमे से एक मुश्किल यह है आपका समय न चाहते हुए भी बर्बाद होता है। और दुःखद बात यह है कि आप स्वयं इसके लिए दोषी हैं। इसलिए स्वयं को व्यवस्थित रखें और time management की कला को सीखें।

“जो व्यक्ति एक घंटा भी बर्बाद करने की हिम्मत रखता है, वह जीवन के मूल्य को नहीं समझ पाया है।”

– चार्ल्स डार्विन

अव्यवस्थित व्यक्तियों का जीवन चिंता, तनाव एवम् बीमारी आदि से ग्रसित रहता है। अव्यवस्थित भोजन करने से आपकी एकाग्रता और ऊर्जा दोनों भंग हो जाती हैं। इसलिए स्वयं को व्यवस्थित रखें और समय प्रबंधन करना सीखें। आप अवश्य सफल होंगे।

“हर समय की तरह यह समय भी बहुत अच्छा है, बशर्ते हम जानते हों कि इसका क्या करें।”

– रेल्फ वॉल्डो एमर्शन

Set financial goal | आर्थिक लक्ष्य बनाएं। :-

किसी यात्रा पर जाने से पहले आपको ये पता होना चाहिए कि आपको जाना कहां है? तभी आप वहां पहुंच सकते हैं। उसी प्रकार आपको ये स्पष्ट होना चाहिए, कि आर्थिक क्षेत्र में आप कहां पहुंचना चाहते हैं। तभी आप वहां पहुंच सकते हैं।

किसी भी मंजिल पर पहुंचने के लिए एक योजना बनाएं और उस दिशा में प्रयास करें। सबसे महत्त्वपूर्ण (The time management | समय प्रबंधन।) skills सीख लें जिससे कि आप अपनी मंजिल आसानी से हासिल कर सकते हैं।

“लक्ष्य से आपकी योजना को आकार मिलता है, योजना से आपके कार्य तय होते हैं। कार्यों से परिणाम मिलते हैं और परिणाम से आपको सफलता प्राप्त होती है। और ये सब लक्ष्य से शुरू होता है।”

– शैड हेल्मस्टेटर

यदि कोई व्यक्ति ठान ले तो वह अपने आर्थिक लक्ष्य प्राप्त कर सकता है, बशर्ते उसके सामने स्पष्ट लक्ष्य हो।

“अमीर बनने का मतलब है पैसा होना; बेहद अमीर बनने का मतलब है समय का होना।”

– मार्गरेट बोनानो

काम को सौंपना सीखें :-

प्रत्येक व्यक्ति अपने महत्त्वपूर्ण कार्य स्वयं करना चाहता है। लेकिन एक निश्चित ऊंचाई पर पहुंचने के बाद प्रगति करने के लिए दूसरों को काम सौंपना अनिवार्य हो जाता है। इसके बाद ही सच्ची प्रगति संभव है, क्योंकि अब आप अकेले नहीं हैं। अब आपके पास एक कुशल टीम है जिसकी वजह से आपका समय कई गुना बढ़ जाता है। अब आप इसका सदुपयोग करके ज्यादा तेजी से अपनी मंजिल पा सकते हैं।

“Time management दरअसल बहुत छोटे बिजनेसमैन के लिए समस्या होती है। इसका कारण यह है कि उन्हें बहुत सारा काम स्वयं करना पड़ता है – छोटे कामों से लेकर बड़े कामों तक सब कुछ।”                              – नॉर्मन स्कैरबरो

“जो लोग छोटी – छोटी चीजों में उलझे रहते हैं, वे बड़े काम नहीं कर पाते हैं।”           – ला रोशफूको

कर्म में जुट जाएं :-

आप सब इस बात से अवगत हैं कि बिना मेहनत के सफल नहीं हो सकते। परन्तु आश्चर्यजनक बात यह है कि हम सब मेहनत करने से जी चुराते हैं। काम को टालना, मूड का ठीक ना होना या संसाधनों की कमी आदि बहाने बनाना हमारी आदत है। क्योंकि मनुष्य स्वभाव से आलसी होता है। हमारा मन मनोरंजन एवम् आनंददायक चीजों की तरफ आकर्षित होता है। मेहनत करने से वो कतराता है। हम मेहनत करने के अलावा सब कुछ करते हैं।

इस संदर्भ में गोस्वामी तुलसीदास जी ने अपने दोहे में लिखा है कि “सकल पदारथ है जग माहीं। करमहीन नर पावत नाहिं। इसका मतलब यह है कि इस संसार में सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है लेकिन वे कर्महीन व्यक्ति को नहीं मिलती हैं।

सफलता की राह मुश्किलों से भरी होती है, जिस पर चलने के लिए आपको अपने मन पर काबू पाना होगा। अपनी इच्छाशक्ति को दृढ़ करना होगा और लक्ष्य की तरफ लगातार बढ़ना होगा। क्योंकि सफल व्यक्ति अपने मूड के दास नहीं बल्कि उसके स्वामी होते हैं।

“महत्त्वपूर्ण यह नहीं कि आप क्या करने जा रहे हैं। इसके बजाय महत्त्वपूर्ण तो यह है कि आप इस समय क्या कर रहे हैं।”

– नेपोलियन हिल

यदि आप सफलता चाहते हैं तो कर्म में जुट जाएं, और तब तक जुटे रहें जबतक कि आप सफल ना हो जाएं। यदि आप time का सर्वश्रेष्ठ उपयोग करना सीख लेते हैं तो time आपको वह वस्तु देगा जिसे आप प्रबलता से चाहते हैं। जैसे – सम्मान, सफलता, सुख और धन जो भी आप चाहते हैं।

यात्रा के समय का अधिकतम उपयोग करें :-

आपके भविष्य का रहस्य आपकी दिनचर्या में छिपा हुआ है। प्रत्येक सफल व्यक्ति अपने 24 घंटों में महत्त्वपूर्ण कार्य करना चाहता है। उसकी पूरी दिनचर्या ही समय के सर्वश्रेष्ठ उपयोग पर केंद्रित होती है। आज प्रत्येक व्यक्ति बहुत सी यात्राएं करता है जिनमे उसका बहुत समय लगता है। फर्क सिर्फ इतना है कि जहां आम व्यक्ति अपनी यात्रा के दौरान हाथ पर हाथ रख कर बैठता है। वहीं सफल व्यक्ति अपने बहुमूल्य time का अधिकतम उपयोग करता है।

“सफल व्यक्ति ऐसे काम करने की आदत डाल लेता है जिन्हे असफल लोग करना नहीं चाहते हैं। हालांकि ये काम सफल व्यक्तियों को भी अच्छे नहीं लगते हैं। लेकिन उद्देश्य को याद रखते हुए वे नापसंद कार्यों से मुंह नहीं मोड़ते।”

                                     – ई. एम. ग्रे

हमें यह जान लेना चाहिए कि अगर आप रोज ढाई घंटे यात्रा करते हैं। तो हमारे जीवन का दस प्रतिशत समय तो यात्रा में ही चला जाता है। आप इस समय में कोई मूल्यवान कार्य करके इसका सार्थक उपयोग कर सकते हैं।

“इस विचित्र जीवन का एक विचित्र सत्य यह भी है। कि जो लोग सबसे अधिक मेहनत करते हैं, खुद को ज्यादा अनुशासित रखते हैं और किसी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कुछ आनंददायक चीजों का त्याग करते हैं, वही सबसे अधिक सुखी होते हैं।”

– बूटस हैमिल्टन

“यदि आप समय का मूल्य नहीं जानते हैं तो आपका जन्म शोहरत के लिए नहीं हुआ है।”

– मार्किस डे वावेनरगयूज

सुबह जल्दी उठें :-

यदि आप सुबह देर से उठते हैं तो आपके पास दूसरे कामों के लिए तो समय बचता है। लेकिन अपने लिए समय नहीं रहता है। खुद को समय दें तथा time management skills को अपनाएं।

“हर काम करने के लिए समय कभी पर्याप्त नहीं होता है लेकिन सबसे महत्वपूर्ण काम करने के लिए समय हमेशा पर्याप्त रहता है।”

– ब्रायन ट्रेसी

रात को वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा कम होती है इसलिए आपका दिमाग कम चलता है। आदर्श समय सुबह का ही होता है। जब वातावरण में ऑक्सीजन भरपूर मात्रा में होता है। सुबह के एक घंटे में आप जितना काम कर सकते हैं उतना काम दोपहर के तीन घंटों में हो पाएगा। सूर्य उगने से दो घंटे पहले उठें और सूर्य छिपने के दो घंटे बाद सो जाएं। आपकी जीवनशैली पहले से अधिक स्वस्थ हो जाएगी। और आपके पास पर्याप्त समय भी रहेगा।

“जो दुनिया को हिलाना चाहता है, सबसे पहले उसे खुद हिलना चाहिए।”

– सुकरात

दोस्तो यदि आपको हमारी ये पोस्ट (The time management | समय प्रबंधन।) अच्छी लगे तो हमें कमेंट में जरुर बताएं। आपके कमेंट हमारे लिए बहुत महत्त्वपूर्ण हैं। इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें।

– 🙏 धन्यवाद 🙏 –

5 thoughts on “The time management | समय प्रबंधन।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *