The secret book | रहस्य।

The secret book | रहस्य।

This image is showing The secret book

The secret book | रहस्य।

रहस्य एक अपने आप में बहुत बड़ा और व्यापक शब्द है। रहस्य को पढ़कर आप सब उत्सुक हो रहे होंगे कि पता नहीं कौन से रहस्य की बात हो रही है। दरअसल यह रॉन्डा बर्न द्वारा लिखित बुक “The secret” का हिंदी अनुवाद है और बहुत बड़ा रहस्य भी।

इसमें आप अपने जीवन के हर पहलू – धन, सेहत, संबंध, खुशी और लोक व्यवहार आदि में रहस्य का प्रयोग करना सीखेंगे। इस (The secret book | रहस्य।) का ज्ञान और अनुभव सभी लोगों के ज्ञान और जीवन का कायाकल्प कर सकता है।

What is the secret | रहस्य क्या है?

आप सभी एक ही असीमित शक्ति से काम करते हैं। एक जैसे नियम आपका मार्गदर्शन करते हैं। इसका नाम आकर्षण है। रहस्य आकर्षण का नियम है। आपके जीवन में जो भी चीजें आ रही हैं, उन्हें आप अपने जीवन में आकर्षित कर रहे हैं। वे उन तस्वीरों द्वारा आपकी ओर आकर्षित हो रही हैं जो आपके मस्तिष्क में हैं। यानी जो आप सोच रहे हैं, जो भी आपके मस्तिष्क में चल रहा है, उसे आप अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं।

बॉब प्रॉक्टर

“आपका हर विचार एक वास्तविक वस्तु – एक शक्ति है।”

– प्रेंटिस मलफोर्ड (1834 – 1891)

The law of attraction is the secret | आकर्षण का नियम ही रहस्य है।

आकर्षण का नियम दुनिया का सबसे शक्तिशाली नियम है, और यही सबसे बड़ा रहस्य है। विलियम शेक्सपियर, रॉबर्ट ब्राउनिंग और विलियम ब्लेक ने इसे अपनी कविता में सिखाया है। लुडविग बेन बिथोवन  जैसे संगीतकारों ने इसे अपने संगीत में व्यक्त किया है। लियोनार्डो द विंची ने इसे अपनी पेंटिंग्स में दर्शाया है।

सुकरात, प्लेटो, रेल्फ वाल्डो इमर्सन, पाइथागोरस, सर फ्रांसिस बेकन, सर आइजैक न्यूटन और विक्टर ह्यूगो ने इसे अपनी लेखनी और दर्शन में व्यक्त किया है। इसी कारण उनके नाम अमर हैं और उनकी महानता सदियों बाद भी कायम है।

यह (The secret book | रहस्य।) हिन्दू धर्म, हर्मिटिक परंपराओं, बौद्ध धर्म, ईसाई धर्म, यहूदी धर्म और इस्लाम में मौजूद है। यह बेबीलोन और मिश्र की प्राचीन सभ्यताओं की लेखनी और कहानियों में व्यक्त हुआ है। यह नियम युगों – युगों से कई रूपों में व्यक्त होता आ रहा है और इसे सदियों पुराने ग्रंथों में पढ़ा जा सकता है।

समय के साथ ही यह नियम शुरू हो गया था। इसका अस्तित्व हमेशा था और हमेशा रहेगा। यह नियम ब्रह्मांड की समूची व्यवस्था, आपके जीवन के हर पल और आपके जीवन में हर अनुभव को तय करता है।

“यह (आकर्षण का नियम) सबसे महान और सबसे अचूक नियम है, जिस पर सृजन का समूचा तंत्र निर्भर है।”

– चार्ल्स हानेल – 1912

Similar things attract similar things | समान चीजें समान चीजों को आकर्षित करती हैं।

आप ब्रह्मांड के सबसे शक्तिशाली चुंबक हैं। आपमें ऐसी चुंबकीय शक्ति है, जो दुनिया की किसी भी चीज से ज्यादा शक्तिशाली है। यह एक अबूझ चुंबकीय शक्ति है जो आपके विचारों से संप्रेषित होती है।

“मूलभूत रूप से, आकर्षण का नियम यह कहता है कि समान चीजें समान चीजों को आकर्षित करती हैं। यानी हम दरअसल विचार के एक ही स्तर पर बात कर रहे हैं।”

– बॉब डॉयल

आपका वर्तमान जीवन आपके पुराने विचारों का प्रतिबिंब है। इसमें आपके पास मौजूद सारी अच्छी चीजें शामिल हैं और वे चीजें भी को शायद इतनी अच्छी नहीं हैं। जिसके बारे में आप ज्यादा सोचते हैं उसे अपनी ओर आकर्षित करते हैं। यह आसानी से पता चल सकता है कि जीवन के हर क्षेत्र के बारे में आपके प्रबल विचार क्या हैं, क्योंकि वे अब तक हकीकत में बदल चुके हैं। अब आप रहस्य सीख रहे हैं और इस पर अमल करके आप हर चीज बदल सकते हैं।

इस सबसे शक्तिशाली नियम से आपके विचार आपके जीवन की वस्तुओं के रूप में साकार हो जाते हैं। विचार वस्तु बन जाते हैं। यह सूत्र बार – बार दोहराएं और इसे अपनी चेतना तथा जागरूकता में उतारें। आपके विचार वस्तु बन जाते हैं।

“प्रबल विचार या मानसिक दृष्टिकोण चुंबक हैं। नियम यह है कि समान चीजें समान चीजों को आकर्षित करती हैं। परिणामस्वरूप मानसिक दृष्टिकोण हमेशा अपनी प्रकृति के अनुरूप स्थितियों को आकर्षित करेगा।”

– चार्ल्स हानेल (1866 – 1949)

Your thoughts are magnetic | आपके विचार चुंबकीय हैं।

विचार चुंबकीय होते हैं और विचारों की एक frequency होती है। जब आप सोचते हैं तो वे विचार संप्रेषित होकर ब्रह्मांड में पहुंच जाते हैं और चुंबक की तरह समान फ्रीक्वेंसी वाली चीजों को आकर्षित करते हैं।

हर भेजी गई चीज स्रोत तक वापस लौटती है और वो स्रोत आप है। अगर आप समृद्ध जीवन जीने की कल्पना करेंगे तो आप इसे आकर्षित कर लेंगे। यह सिद्धांत हर बार और हर इंसान के मामले में काम करता है। यह एक सार्वभौमिक रहस्य है जिसके बारे में जानना हम सब के लिए आवश्यक है।

“मानसिक शक्तियों के कम्पन ब्रह्मांड में सर्वश्रेष्ठ और सबसे शक्तिशाली होते हैं।”

– चार्ल्स हानेल

Attract the good rather than the bad | बुरे के बजाय अच्छे को आकर्षित करें।

लोगों को उनकी मनचाही चीज न मिलने का एकमात्र कारण यह है, कि वे इस बारे में ज्यादा सोच रहे हैं कि वे क्या नहीं चाहते हैं बजाय इसके कि वे क्या चाहते हैं। अपने विचारों पर गौर करें और अपने शब्दों को सुनें। नियम शाश्वत है और इसमें कहीं चूक नहीं होती है। आकर्षण का नियम नैसर्गिक नियम है। यह निष्पक्ष है और अच्छी या बुरी चीजों में भेद नहीं करता है।

यह आपके विचारों को आपके जीवन में साकार कर देता है। आप जिस भी बारे में सोचते हैं, आकर्षण का नियम आपको वही देता है। जब आप अपनी किसी मनचाही चीज पर अपने विचार केंद्रित करते हैं और एकाग्रता बनाए रखते हैं तो आप उस पल ब्रह्मांड की सबसे प्रबल शक्ति से अपनी मनचाही चीज का आह्वान कर रहे हैं।

आकर्षण का नियम “नहीं” या “नहीं चाहता” या किसी तरह के नकारात्मक शब्दों को माप या भांप नहीं सकता है। यह तो एक ऐसा रहस्य है जो कि आपके विचारों के अनुरूप परिणाम देता है। जब आप नकारात्मक शब्द बोलते हैं तो आकर्षण का नियम यह सुनता है:-

“मैं नहीं चाहता कि मुझे देर हो जाए।” | “मैं चाहता हूं कि मुझे देर हो जाए।”

“वह व्यक्ति मेरे साथ बदतमीजी से पेश आए, ये मैं नहीं चाहता।” | “मैं चाहता हूं कि वह व्यक्ति और दूसरे व्यक्ति भी मेरे साथ बदतमीजी से पेश आएं।”

“मैं इस काम को नहीं संभाल सकता” | “मैं इसके अलावा भी ऐसे बहुत से काम चाहता हूं जिन्हें मैं नहीं संभाल सकता।”

“मुझसे इस तरह मत बोलो।” | “मैं चाहता हूं कि आप मुझसे इस तरह बोलें और दूसरे लोग भी मुझसे ऐसे ही बोलें।”

आकर्षण का नियम आपको वही दे रहा है जिसके बारे में आप सोच रहे हैं – बात ख़त्म!

You are the creator of your future | आप अपने भविष्य के रचयिता हैं।

आकर्षण का नियम सृजन का नियम है। क्वांटम भौतिक शास्त्री हमें बताते हैं कि समूचा ब्रह्मांड विचार से उत्पन्न हुआ है। आप अपने विचारों और आकर्षण के नियम द्वारा अपने जीवन का सृजन कर सकते हैं। और हर व्यक्ति यही कर रहा है। आप इस बात को जाने या न जाने, यह हमेशा सक्रिय है। यह पूरे इतिहास में आपके और हर व्यक्ति के जीवन में हमेशा सक्रिय रहा है। जब आप इस महान नियम (रहस्य) को जान लेते हैं तब जाकर आपको पता चलता है कि आप कितने अविश्वसनीय रूप से शक्तिशाली हैं।

प्रकृति के सभी नियमों की तरह ही यह नियम भी बिल्कुल सटीक है। आप अपने जीवन की रचना करते हैं। आप जो बोएंगे वही काटेंगे। आपके विचार बीज हैं और आप जो फसल काटेंगे वो आपके बोए हुए बीजों पर निर्भर करेगा। आपके विचार जिस चीज पर केंद्रित होते हैं, यह नियम आपकी ओर ठीक वही चीज प्रसारित और प्रकट करता है।

इस सशक्त ज्ञान से आप अपना सोचने का तरीका बदल सकते हैं। और इस तरह अपने जीवन की हर परिस्थिति तथा घटना को पूरी तरह बदल सकते हैं। आपकी जिंदगी आपके हाथ में है। आप इस वक्त चाहे जहां हों, आपके जीवन में चाहे जो हुआ हो, आप इसी वक्त अपने विचार बदल कर अपनी जिंदगी बदल सकते हैं।

Your brain power | आपके मस्तिष्क की शक्ति।

आपकी जिंदगी आपके प्रबल विचारों का आइना है। इस धरती पर मौजूद सारे जीवित प्राणी आकर्षण के नियम के माध्यम से काम करते हैं। इंसानों के पास दिमाग है, विवेक है। वे अपनी स्वतंत्र इच्छा का प्रयोग करके अपने विचार चुन सकते हैं। उनके पास निर्माण करने और अपने मानसिक विचारों से अपने जीवन का निर्माण करने की शक्ति होती है।

क्वांटम भौतिक शास्त्रियों के आश्चर्यजनक कार्यों और खोजों के कारण अब हम मानवीय मस्तिष्क की असीमित सृजनात्मक शक्ति को ज्यादा अच्छी तरह समझ चुके हैं। उनके निष्कर्ष विश्व के महानतम चिंतनों के शब्दों के अनुरूप हैं, जिसमें कृष्ण, बुद्ध, इमर्सन, कारनेगी, शेक्सपियर और बेकन शामिल हैं।

आप मानवीय ट्रांसमिशन टॉवर की तरह हैं, और अपने विचारों से फ्रीक्वेंसी प्रसारित कर रहे हैं। यदि आप अपनी जिंदगी में कोई चीज बदलना चाहते हैं तो अपने विचार बदलकर फ्रीक्वेंसी बदल दें। इस महान रहस्य को समझें, आपके वर्तमान विचार आपके भावी जीवन का निर्माण कर रहे हैं। आप जिसके बारे में सबसे ज्यादा सोचते हैं या जिस पर सबसे ज्यादा ध्यान केंद्रित करते हैं, वह आपकी जिंदगी में प्रकट हो जाएगा।

Simplification of the secret | रहस्य का सरलीकरण।

दिमाग में आने वाले हर विचार की निगरानी करना असंभव है। शोधकर्ता बताते हैं कि हमारे दिमाग में हर दिन 60 हजार विचार आते हैं। यदि आप सभी साठ हजार विचारों को नियंत्रित करने की कोशिश करेंगे तो सोचें आप कितना थक जाएंगे। सौभाग्य से एक ज्यादा आसान तरीका है : भावनाएं। हमारी भावनाएं हमें बता देती हैं कि हम क्या सोच रहे हैं।

हम जिस ब्रह्मांड में रहते हैं, उसमें गुरुत्वाकर्षण जैसे अटूट नियम काम करते हैं। यदि आप किसी इमारत से नीचे गिरते हैं तो इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप अच्छे इंसान हैं या बुरे। आप जमीन से अवश्य टकराएंगे। आकर्षण का नियम प्रकृति का नियम है, जो कि सबसे बड़ा रहस्य है। यह गुरुत्वाकर्षण के नियम जितना ही निष्पक्ष और सर्वव्यापी है। यह सटीक और अचूक है।

“आप राह में चलते – चलते अपने ब्रह्मांड का निर्माण स्वयं करते हैं।”

– विस्टन चर्चिल

Love : greatest emotion | प्रेम : महानतम भाव।

प्रेम ब्रह्मांड की सबसे बड़ी शक्ति है। प्रेम का भाव वह सर्वोच्च फ्रीक्वेंसी है, जिसे आप प्रेषित कर सकते हैं। अगर आप अपने हर विचार को प्रेम में सराबोर कर सकें, अगर आप हर वस्तु और व्यक्ति से प्रेम कर सकें, तो आपके जीवन का कायाकल्प हो जाएगा।

“विचार और प्रेम का मिश्रण आकर्षण के नियम को बेहद शक्तिशाली बना देता है।”

– चार्ल्स हनेल

“जो सिद्धांत विचार को इसकी वस्तु के साथ जोड़ने  और इस तरह मानवीय विपत्ति पर विजय पाने की जबरदस्त शक्ति देता है। यह आकर्षण का नियम है। यह एक शाश्वत और आधारभूत सिद्धान्त है, जो हर वस्तु, हर दर्शन, हर धर्म और हर विज्ञान में निहित है। प्रेम के नियम को नज़रंदाज़ नहीं किया जा सकता है। भावना इच्छा है और इच्छा प्रेम है। प्रेम से सराबोर विचार अजेय बन जाते हैं।”

– चार्ल्स हानेल

प्रेम का भाव वह सर्वोच्च फ्रीक्वेंसी है, जिसे आप ब्रह्मांड में भेज सकते हैं। आप जितना ज्यादा प्रेम महसूस और प्रेषित करते हैं, आपकी शक्ति उतनी ही ज्यादा होती है।

This image is showing about the secret

How to use the secret | रहस्य का प्रयोग कैसे करें।

आपने अलादीन और उसके चिराग की कहानी तो सुनी होगी। जब अलादीन चिराग उठाता है और उसकी धूल साफ करता है तो उसमें से जिन्न फौरन बाहर आ जाता है। जिन्न हमेशा एक ही बात कहता है: “आपकी इच्छा ही मेरा आदेश है।”

कहानी में बताया गया है कि जिन्न तीन इच्छाएं पूरी करता है, लेकिन यदि आप कहानी की तह तक जाएंगे, तो इसकी कोई सीमा नहीं है। आप जितनी भी इच्छाएं उत्पन्न करेंगे, वे सब पूरी होंगी। बस आपको रहस्य के बारे में जानने की आवश्यकता है।

Creative process | रचनात्मक प्रक्रिया।

रहस्य की रचनात्मक प्रक्रिया बाइबल की न्यू टेस्टामेंट से ली गई है। इसमें आपको यह सरल मार्गदर्शन मिलता है कि अपनी मनचाही चीज कैसे पाएं। आप जो कुछ भी पाना चाहते हैं, उसके लिए यहां तीन आसान कदम दिए गए हैं।

Step 1 : Ask | कदम 1 : मांगें।

मांगना रचनात्मक प्रक्रिया का पहला कदम है, इसलिए मांगने की आदत डाल लें। यदि आपको विकल्प चुनना है, लेकिन आप यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि किस राह पर जाएं, तो मार्गदर्शन मांगें। आपको जिंदगी के किसी भी क्षेत्र में असफल होने की आवश्यकता नहीं है। बस मांग लें।

बस एक बार मांगना ही काफी है। आपको बार – बार मांगने की जरूरत नहीं है। रहस्य की रचनात्मक प्रक्रिया का यही नियम है। पहला कदम सिर्फ इस बारे में स्पष्ट होना है कि आप क्या चाहते हैं? यदि आपने अपने दिमाग में स्पष्ट कल्पना कर ली है, तो समझो आपने मांग लिया है।

Step 2 : Make sure | कदम 2 : यकीन करें।

आपको यकीन करना होगा कि आपको वह चीज मिल चुकी है। आपको यह विश्वास होना चाहिए कि जिस पल आपने उसे मांगा है, उसी पल वह आपकी हो चुकी है। आपको पूर्ण और पक्की आस्था रखनी है। यदि आप किसी कैटलॉग से कोई ऑर्डर करते हैं, तो इसके बाद आप तसल्ली से बैठ जाते हैं। और जिंदगी में आगे बढ़ जाते हैं क्योंकि आप जानते हैं, कि आपने जिस चीज का ऑर्डर किया है, वह आपको मिल ही जाएगी।

“चीजों को इस तरह देखें जैसे आपकी मनचाही चीजें, इसी समय आपको मिल चुकी हैं। स्वयं में विश्वास रखें कि वे चीजें जरूरत के समय आपके पास आ जाएंगी। बस इन्हें आने दें, इनके बारे में चिंता ना करें अथवा परेशान न हों। उनकी कमी के बारे में न सोचें। उनके बारे में इस तरह सोचें, जैसे कि वे आपकी हो चुकी हैं। आप इनके हकदार हैं और मालिक हैं।”

– रॉबर्ट कॉलियर (1885 – 1950)

Step 3 : Get | कदम 3 : पाएं।

प्रक्रिया का तीसरा और आखिरी कदम है पाना। इसके बारे में अच्छी भावनाएं महसूस करें। उसी प्रकार महसूस करें जिस तरह आप उस चीज को पाने के बाद महसूस करेंगे। इसे अभी महसूस करें। इस प्रक्रिया में खुश रहना और अच्छा महसूस करना महत्वपूर्ण है। क्योंकि अच्छा महसूस करने पर आप खुद को उसी फ्रीक्वेंसी पर रख रहे हैं, जिस पर आपकी मनचाही चीज है।

“आप प्रार्थना में जो भी मांगेंगे, यकीन करने पर उसे पा लेंगे।”

– मैथ्यू 21 : 22

जब आप किसी कल्पना को हकीकत में बदल लेते हैं, तो आप ज्यादा बड़ी कल्पनायें करने की स्थिति में आ जाते हैं। और यही रहस्य की रचनात्मक प्रक्रिया है।

“जिन भी चीजों की आप इच्छा करते हैं, जब आप प्रार्थना करते हैं और यकीन करते हैं कि आप उन्हें पा लेंगे, तो आप उन्हें सचमुच पा लेंगे।”

– मार्क 11 : 24

हर दिन के बारे में आप पहले से सोच लें कि आप उसे कैसा बनाना चाहते हैं। इस तरह आप मनचाहे ढंग से अपने जीवन का निर्माण करने लगेंगे।

Strong processes | सशक्त प्रक्रियाएं।

बहुत से लोग अपनी वर्तमान परिस्थितियों में कैद, बंद या फंसे महसूस करते हैं। चाहे इस समय आपकी परिस्थिति कैसी भी हो, यह सिर्फ वर्तमान हकीकत है। जब आप रहस्य का इस्तेमाल शुरू कर देंगे तो आपकी वर्तमान हकीकत बदलने लगेगी।

“इंसान खुद को बदल सकता है… और अपनी तकदीर का मालिक बन सकता है। यह हर उस व्यक्ति का निष्कर्ष है, जो सही विचार की शक्ति के प्रति पूर्ण रूप से जागृत है।”

– क्रिश्चियन डी. लार्सन (1866 – 1954)

“हम जो भी हैं, अपने पुराने विचारों के कारण हैं।”

– बुद्ध (५६३ ई. पू. – ४८३ ई. पू.)

Strong process of gratitude | कृतज्ञता की सशक्त प्रक्रिया।

सबसे पहले आप उन चीजों की सूची बनाएं जिनके लिए आप कृतज्ञ हैं। इससे आपकी ऊर्जा बदल जाती है और आपकी सोच बदलने लगती है। इस अभ्यास से पहले आपका पूरा ध्यान अपनी शिकायतों और परेशानियों पर केन्द्रित था। लेकिन इस अभ्यास को करने के बाद आप एक अलग दिशा में मुड़ जाते हैं। आप उन चीजों के लिए कृतज्ञ होने लगते हैं, जिनके बारे में आप अच्छा महसूस करते हैं।

“कृतज्ञता आपके समूचे मस्तिष्क को ब्रह्मांड की रचनात्मक ऊर्जाओं के करीबी सामंजस्य में लाती हैं। अगर यह विचार आपके लिए नया है, तो इस बारे में अच्छी तरह सोचें। आप पाएंगे, कि यह सच है।”

– वैलेस वैटल्स (1860 – 1911)

हर सुबह बिस्तर छोड़ने से पहले नए महान दिन के लिए कृतज्ञता की भावनाएं महसूस करने की आदत डाल लें। जैसे आपकी मनचाही चीज आपको मिल चुकी है। जब आप ऐसे कृतज्ञ होते हैं जैसे आपको मनचाही चीज मिल चुकी है तो आप ब्रह्मांड को एक सशक्त संदेश भेजते हैं।

यह संकेत बताता है कि वह चीज आपके पास अभी मौजूद है। यदि आप रहस्य के ज्ञान से सिर्फ एक ही काम करना चाहते हैं तो कृतज्ञता का प्रयोग करें, जब तक कि यह आपकी जीवनशैली न बन जाए।

The powerful process of seeing the mental picture | मानसिक तस्वीर देखने की सशक्त प्रक्रिया।

मानसिक तस्वीर देखना (visualisation) एक ऐसी प्रक्रिया है, जो सभी महान उपदेशक और अवतार सदियों से सिखाते आ रहे हैं। वर्तमान युग के सभी महान उपदेशक भी यही करते हैं। 1912 में चार्ल्स हानेल ने ‘ द मास्टर की सिस्टम ‘ पुस्तक लिखी थी।

इसमें उन्होंने मानसिक तस्वीर देखने में निपुण बनने के लिए चौबीस सप्ताहिक अभ्यास बताए हैं। मानसिक तस्वीर की प्रक्रिया की प्रबल शक्ति का कारण यह है कि जब आपके दिमाग में मनचाही चीजों के साथ आपकी तस्वीर उत्पन्न होती है। तो आपके मन में ऐसे विचार और भाव जाग्रत होते हैं, जैसे वे चीजें इसी समय आपके पास हो।

“हर व्यक्ति मानसिक तस्वीर देखता है, चाहे उसे यह बात मालूम हो या न हो। मानसिक तस्वीर देखना सफलता का महान रहस्य है।”

– जेनेवीव बेहरेंड (1881 – 1960)

Strong processes are activated | सशक्त प्रक्रियाएं सक्रिय हो जाती हैं।

जो लोग इस तरह का जादुई जीवन जीते हैं, उनमें और बाकी लोगों में इकलौता फर्क यह है कि जादुई जीवन जीने वाले लोग अपनी मनचाही चीजों को आदतन आकर्षित करते हैं। आकर्षण के नियम का प्रयोग करना उनकी आदत बन जाती है, और वे चाहे जहां भी जाएं, उनके साथ जादू होता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वे लगातार इसका प्रयोग करते रहते हैं। यह सिर्फ एक बार की घटना नहीं है, वे हर समय इसका इस्तेमाल करते हैं।

“कोई भी चीज आपकी तस्वीर को साकार होने से नहीं रोक सकती, सिवाय उस शक्ति के जिसने उसे उत्पन्न किया था – यानी आप।”

– जैनेवीव बेहरैंड

जो आप चाहते हैं उसे अपने पास होने की भावनाएं महसूस करें।इसके बाद उस पर ध्यान केंद्रित करें, जिसके लिए आप पहले से ही कृतज्ञ हैं और इसका सचमुच आनंद लें। फिर अपना दिन शुरू करें और इसे ब्रह्मांड को समर्पित कर दें। इस रहस्य पर भरोसा रखें, ब्रह्मांड यह पता लगा लेगा कि इस चीज को आपके जीवन में कैसे प्रकट करना है।

“कल्पना ही सब कुछ है। यह जीवन के आगामी आकर्षणों का पूर्वदर्शन है।”

– अल्बर्ट आइंस्टाइन (1879 – 1955)

Secret of the world | संसार का रहस्य।

इस दुनिया की हर चीज एक विचार से शुरू हुई है। बड़ी चीजें ज्यादा बड़ी बन जाती हैं, क्योंकि उनके प्रकट होने के बाद ज्यादा लोग उनमें अपने विचारों का योगदान देते हैं। फिर वे विचार और भाव उस घटना को अस्तित्व में रखते हैं और उसे ज्यादा बड़ा बनाते हैं। अगर हम अपना ध्यान बुरी चीज पर से हटाकर प्रेम पर केंद्रित कर लें तो वह बुरी चीज अस्तित्व में ही नहीं रह सकती। और यही संसार का रहस्य है।

नकारात्मक चीजों पर ध्यान केंद्रित करके आप दुनिया की मदद नहीं कर सकते। जब आप दुनिया की नकारात्मक घटनाओं पर ध्यान केंद्रित करते हैं तो आप न सिर्फ उन्हें बढ़ाते हैं बल्कि आप अपनी जिंदगी में और अधिक नकारात्मक चीजें भी आकर्षित करते हैं। दुनिया की समस्याओं पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय विश्वास, प्रेम, प्रचुरता, शिक्षा और शांति पर ध्यान व ऊर्जा लगाएं।

The universe’s reserves are infinite | ब्रह्मांड का भंडार अनंत है।

रहस्य के बारे में बड़ी सुंदर बात यह है कि हर एक के लिए पर्याप्त से ज्यादा है। दुनिया में सबके लिए पर्याप्त से ज्यादा अच्छाई है, पर्याप्त से ज्यादा रचनात्मक विचार है। पर्याप्त से ज्यादा शक्ति है, पर्याप्त से ज्यादा खुशी है। यह सब उस मस्तिष्क में उत्पन्न हो सकता है, जो अपनी असीमित प्रकृति के बारे में जागरूक रहता है। दुनिया की हर चीज की तारीफ करें और आशीष दें। इस तरह आप नकारात्मक और वैमनस्य को खत्म कर देंगे तथा ऊंची फ्रीक्वेंसी – प्रेम – पर पहुंच जाएंगे।

“इस दुनिया में हर एक लिए पर्याप्त है यदि आप इसमें यकीन करते हैं, इसे देख सकते हैं और इसके लिए काम कर सकते हैं, तो यह आपके सामने प्रकट हो जाएगा। यही सच है।”

– माइकल बर्नार्ड बेकविथ

यदि आपको हमारी ये पोस्ट (The secret book | रहस्य।) अच्छी लगती है या इससे आपकी जिंदगी बदलती है तो हमें कमेंट में जरुर बताएं। आपके कॉमेंट हमारे लिए बहुत महत्त्वपूर्ण हैं। इन रहस्य के बारे में अपने दोस्तों को जरुर शेयर करें।

– 🙏 धन्यवाद🙏 –

14 thoughts on “The secret book | रहस्य।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.