Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या।

Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या।

Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या

Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या।

सामान्यतः प्रत्येक व्यक्ति का डेली रूटीन अलग – अलग होता है। सुबह से शाम तक पूरे दिन में हम जो भी कार्य करते हैं, वह सब हमारी Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या। कहलाती है। कुछ एक एक्टिविटी ऐसी होती हैं जो सबके लिए समान होती हैं जैसे – ब्रश, स्नान और भोजन करना आदि।

पुराने समय में लोग जल्दी उठकर अपना daily routine शुरू कर देते थे। जैैसेेेे – जैसे टेक्नोलॉजी बढ़ती जा रही है लोगों की दैनिक दिनचर्या भी प्रभावित हो रही है। जब से इंटरनेट और मोबाइल फोन आए हैं, तब से लोगों का अधिकतर समय इन्ही के साथ गुजरता है।

युवा पीढ़ी पूरी तरह इनकी चपेट में आ चुकी है, यहां तक कि छोटे बच्चे भी इनसे अछूते नहीं रहे हैं। रात को सोने से पहले लोग घंटों मोबाइल पर लगे रहते हैं। जिससे उनकी आंखे और नींद दोनों प्रभावित होते हैं।

Definition of daily routine | दैनिक दिनचर्या की परिभाषा।

दिनचर्या दो शब्दोंं, दिन और चर्या को मिलाकर बना है जिसमें दिन का अर्थ है दिन और चर्या यानी आचरण। प्रातः काल में जल्दी उठकर रात को सोने तक किए गए सभी क्रमबद्ध कार्यों को दैनिक दिनचर्या कहते हैं।

व्यक्ति का daily routine दर्शाता है कि उसका आचरण कैसा है। और आचरण व्यक्ति की सफलता को निर्धारित करता है। प्रकृति के अनुरूप किए गए सभी कार्यों को स्वस्थ दैनिक दिनचर्या (healthy daily routine) कह सकते हैं।

Importance of daily routine | दैनिक दिनचर्या का महत्त्व।

किसी भी कार्य को क्रमबद्ध तरीके से किया जाए तो उसके परिणाम सकारात्मक होते हैं। तो हमारा डेली रूटीन भी क्रमबद्ध होना चाहिए। स्वस्थ और समृद्ध जीवन – यापन के लिए हमें अपनी दिनचर्या को व्यवस्थित करना चाहिए।

एक अच्छा daily routine हम सबके लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण है। अच्छे डेली रूटीन के बहुत सारे फायदे हैं जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे। स्वस्थ दैनिक दिनचर्या के निम्नलिखित फायदे हैं—

  1. सुबह जल्दी उठने की आदत।
  2. खुद के लिए पर्याप्त समय।
  3. शारीरिक और मानसिक रूप से तंदुरुस्त।
  4. एकाग्रता में वृद्धि।
  5. सकारात्मक सोच।
  6. जिम्मेदारी का अहसास।
  7. खुशहाल और सफल जीवन।

और भी कई सारे फायदे हैं लेकिन उन्हें आप तब feel करोगे, जब स्वयं एक healthy daily routine अपनाओगे।

यहां हम छात्रों के लिए एक healthy daily routine पर नजर डालते हैं। कोरोना के कारण इन दिनों स्कूल नहीं खुलने से छात्रों की पढ़ाई सबसे ज्यादा प्रभावित हुई है। इसलिए हम एक ऐसा डेली रूटीन लेकर आए हैं जो बेहतर परिणाम दे सकता है। यह दिनचर्या ना सिर्फ छात्रों बल्कि हम सभी के लिए महत्त्वपूर्ण हैै। तो आओ जानते हैं इसके बारे में।

Daily routine for students | छात्रों के लिए दैनिक दिनचर्या।

कुछ लोग कहते हैं कि students life बहुत मजेदार होती है जहां पढ़ाई के साथ मौज मस्ती भी करने को मिलती है। ये वो लोग होते हैं जो अपनी पढ़ाई को प्राथमिकता नहीं देते और उस बहुमूल्य समय को बर्बाद कर देते हैं। फिर उन्हे नतीजे भी वैसे ही मिलते हैं जैसी उनकी मेहनत और लगन होती है।

दरअसल हकीकत ये है कि यही वो समय है जो आपके भविष्य को निखारता है। आप अपनी पढ़ाई को लेकर इतने सीरियस रहते हैं कि इस कीमती समय को पूरी तरह यूटिलाइज करना चाहते हैं। इन लोगों को परिणाम भी इनकी मेहनत के अनुसार मिलते हैं।

तो चलिए जानते हैं कि एक छात्र को अपना डेली रूटीन कैसा बनाना चाहिए। छात्र जीवन में पढ़ाई के साथ – साथ खेलकूद भी एक पहलू है। खेलकूद से आपका स्वास्थ्य अच्छा बना रहता है। इसलिए अपना मनपसंद खेल को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।

11 tips to healthy daily routine | स्वस्थ दिनचर्या के लिए 11 टिप्स।

हर इंसान सुबह से लेकर शाम तक कुछ न कुछ काम अथवा कुछ जरूरी काम तो करता ही है। ऐसे काम जो जीविका चलाने के लिए आवश्यक होते हैं। ये तो लगभग हर कोई करता है तो फिर हेल्दी डेली रूटीन क्या है?

आइए जानते हैं कि कैसे अपनी दिनचर्या को healthy daily routine बनाया जाए। इसके लिए नीचे कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं। जिन्हें फॉलो करके आप भी अपनी दिनचर्या को एक हेल्दी डेली रूटीन बना सकते हैं।

देखिए इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप छात्र हैं, किसान, बिजनेसमैन या कर्मचारी हैं। हेल्दी डेली रूटीन सबके लिए जरूरी है और ये सबके लिए काम करेगा। अब बात आती है कि कैसे हम इस रूटीन को अपनाएं? आप जिस भी प्रोफेशन में हैं उससे संबंधित सभी कार्यों को सुबह से ही मैनेज करना शुरू करें। तो चलो शुरू करें।

1. Wake up early in the morning | सुबह जल्दी उठें।

यदि आप स्वस्थ शरीर चाहते हैं और स्वस्थ जीवनशैली जीना चाहते हैं तो अपने डेली रूटीन में कुछ सुधार करें। क्या आप सुबह जल्दी उठते हैं? अगर नहीं तो आज से ही इसकी आदत डालिए। सुबह उठने के बड़े ही फायदे हैं।

इसे भी पढ़ें : स्वस्थ जीवनशैली के लिए टिप्स | healthy Lifestyle

इनमें से एक तो यह है कि आप सुबह उठकर खुद को टाइम दे पाएंगे। नहीं तो क्या होता है कि हम जब देर से उठते हैं तो सारा काम लेट हो जाता है। और हम इस आपा धापी में कुछ करते हैं और कुछ काम छूट जाते हैं। देर होने से कुछ तो अगले दिन के लिए छोड़ दिए जाते हैं जिससे काम का ढेर लग जाता है।

इसलिए बेहतर होगा कि सुबह जल्दी उठें और शौंच आदि से निवृत होकर व्यायाम करें। जिससे आपका पूरा दिन स्फूर्ति भरा गुजरेगा। आज का दिन कैसा रहेगा ये आप पर निर्भर करता है। इसलिए सुबह जल्दी उठकर अपने दिन के सभी कामों की प्लानिंग करें।

यदि आप छात्र हैं तो आपको कौनसे विषय के होमवर्क करने हैं या रिवीजन करना है आदि की प्लानिंग करें। और यदि आप व्यवसायी या कर्मचारी हैं तो उससे संबंधित कार्यों को मैनेज करें। सुबह जल्दी उठने का मतलब है कि आप 04:00 से 05:00 के बीच उठ जाएं। इससे आप खुद को पर्याप्त समय दे पाएंगे।

2. Adopt exercise, yoga and meditation | व्यायाम, योग और ध्यान को अपनाएं।

Healthy daily routine, exercise and yoga

व्यायाम, योग और ध्यान एक स्वस्थ शरीर के लिए ऐसे जरूरी है जैसे कि भूखे पेट के लिए खाना। इसलिए सुबह जल्दी उठकर हल्का – फुल्का व्यायाम करें अथवा योग और ध्यान को जरुर करें। थोड़ा ही करें लेकिन रोज करें यदि खुद को healthy रखना चाहते हैं।

इन्हें करने से आपका शरीर स्वस्थ और मजबूत बनेगा, इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर होगा। ध्यान (meditation), concentration power को बढ़ाता है जो कि हर किसी के लिए आवश्यक है। योग आपके शारीरिक स्वास्थ्य के साथ मानसिक स्वास्थ्य को भी बेहतर बनाता है। इसलिए इन्हें अपने Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या। में शामिल करें।

इसे भी पढ़ें : योग से मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाएं।

3. Healthy breakfast | पोषणयुक्त नाश्ता।

सुबह एक्सरसाइज करने के बाद अच्छे से नॉर्मल पानी से नहाना चाहिए। ये जरूरी है कि नहाने का पानी न ज्यादा ठंडा और न ज्यादा गर्म होना चाहिए। उसके बाद आप भगवान की पूजा अर्चना करें और फिर हेल्दी ब्रेकफास्ट खाएं।

कहते हैं सुबह का नाश्ता राजा की भांति करना चाहिए। यानी पोषण से भरपूर नाश्ता करने से आपका शरीर स्वस्थ और निरोगी रहता है। हैवी और पोषणयुक्त नाश्ता आपको पर्याप्त प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और खनिज प्रदान करता है।

सुबह का नाश्ता 7 से 8 के बीच होना चाहिए जिससे कि आप लंच और डिनर भी समय पर ले सकें। ये सब मैनेज करना भी तो आपके healthy daily routine का ही एक हिस्सा है।

4. Make a to do list for everyday | हर रोज के लिए एक सूची बनाएं।To do list for daily routine

हर रोज के लिए एक ऐसी लिस्ट बनाएं जो ये दर्शाए कि आज आपको क्या – क्या करना है। ये बहुत जरूरी है और इसे इस प्रकार तैयार करें जिसमें सबसे महत्त्वपूर्ण काम सबसे पहले लिखें।

दूसरे नंबर पर उस काम को रखें जो पहले वाले से कम महत्त्वपूर्ण हो और इसी क्रम में बाकी को लिखते जाएं। सबसे बाद में उस टास्क को रखें जो आपके लिए ज्यादा महत्त्वपूर्ण ना हो। और यदि ये छूट भी जाए तो उसे अगले दिन कर सकें। इस तरह से आप अपना बेहतर दे पाओगे।

यदि आप स्टूडेंट हैं तो इससे आपकी study भी अच्छी होगी। आप चाहे जिस भी प्रोफेशन में हैं ये लिस्ट आपके लिए रिमाइंडर का काम करेगी। ये आपकी उत्पादकता बढ़ाने में मददगार साबित होगी।

5. Make a habit of reading book everyday | रोजाना किताब पढ़ने की आदत डालें।

Healthy daily routine के लिए ये बहुत जरूरी है कि अपनी आदतों में बदलाव किया जाए। अच्छी आदतें ही होती हैं जो एक इंसान को सक्सेसफुल बनाती हैं। यदि आप Success हासिल करना चाहते हैं तो Successful लोगों को सुनें और उनके बारे में पढ़ें।

इसे भी पढ़ें : सफलता के रहस्य।

मैने बहुत से सफल लोगों और महापुरुषों के बारे में पढ़ा है। वो आज भी किताबें पढ़ते हैं और सभी के लिए किताब पढ़ने की सलाह देते हैं। वे कहते हैं कि किताबों से अच्छा कोई दोस्त नहीं होता है।

बुक्स हमें ऐसी जानकारी देती हैं जिसे कोई इंसान नही सिखा सकता। इसलिए प्रतिदिन सुबह जल्दी उठकर या रात को सोने से पहले self-help books या मोटिवेशनल बुक्स को पढ़ें। जो लोग छात्र हैं वे अपने सब्जेक्ट की स्टडी के लिए टाइम टेबल बनाएं।

6. Positive attitude | सकारात्मक दृष्टिकोण।

किसी भी चीज को देखने के दो आयाम हो सकते हैं। एक वो जो कि वास्तविक है और दूसरा आपका देखने का नजरिया कैसा है।

उदाहरण के लिए एक कांच का गिलास लेते हैं जो पानी से आधा भरा है। अब इसको देखने वाले अधिकतर लोग यही कहेंगे कि गिलास आधा खाली है। जबकि आपका सकारात्मक दृष्टिकोण कहेगा कि गिलास पानी से आधा भरा हुआ है।

इसे भी पढ़ें :- सकारात्मक मानसिक नजरिया | positive mental attitude.

तो ऑब्जेक्ट एक ही है लेकिन हमारे देखने के नजरिए अलग — अलग हैं। सफ़ल होने केे लिए आपको भी अपने daily routine में सकारात्मक आदतें जोड़नी हैं।

7. Take responsibility | जिम्मेदारी लेना सीखें।

जिम्मेदारी संभालना एक निपुणता है जो कि हर इंसान को संभालनी पड़ती है। जब आप भी स्टूडेंट लाइफ के बाद किसी जॉब या business में जायेंगे तब आपको इसका सामना करना पड़ेगा। ऐसी बात नहीं है कि जिम्मेदारी सिर्फ नौकरी और बिजनेस में ही लेनी होती है।

जब आप एक ग्रहस्थ जीवन जिएंगे तब भी responsibility एक अहम पहलू होगा। तो कहने का तात्पर्य यह है कि छोटे छोटे कार्यों की जिम्मेदारी लें और उसे अच्छे से पूरा करें। जब आप किसी भी कार्य को सुचारू रूप से अंजाम देते हैं तो आप अंदर से एक खुशी महसूस करेंगे।

8. Keep yourself disciplined | खुद को अनुशासित रखें।

जीवन में कुछ नया सीखने और उसमें सक्सेस हासिल करने के लिए अनुशासन बहुत जरूरी है। एक well disciplined इंसान वो सब कर लेता है जो वह चाहता है।

अनुशासन ही वो चीज है जो एक रंगरूट को trained सैनिक बनाता है। सर्कस में मदारी के सामने शेर और बंदर सिर्फ उसके इशारे पर नाचते हैं ये सब discipline से ही possible है। किसी भी तरह के कार्य को सीखने या करने के लिए दिशा निर्देश दिए जाते हैं। इन डायरेक्शंस को फॉलो करके उस कार्य को अच्छा परिणाम दिया जा सकता है।

इसी प्रकार खुद को किसी सांचे में ढालने के लिए अनुशासन बहुत जरूरी है। सफलता की राह इतनी आसान नहीं है। क्यों हर इंसान सफल नहीं हो पाता है? क्योंकि वे खुद को अनुशासित नहीं रख पाते हैं और वे असफल हो जाते हैं।

हर successful व्यक्ति पहले well disciplined इंसान है और फिर बाद में वो एक सफल इंसान है। इसलिए खुद को अनुशासित रखें।

9. Eat less in lunch but eat nutritious | दोपहर के खाने में कम खाएं लेकिन पोष्टिक खाएं।

दोपहर का खाना बारह से दो बजे के बीच कर लेना चाहिए। लंच को ब्रेकफास्ट से हल्का होना चाहिए। इसमें पोष्टिक चीजें जैसे दही, सलाद, दालें, चपाती, हरी सब्जी, फल और चावल खा सकते हैं।

इसे पहले हाथों को अच्छे से साफ करें और खाने को अच्छे से चबा करके खाएं, जल्दबाजी में न खाएं। खाना खाते समय पानी न पिएं। यदि आपको पानी पीना है तो खाना शुरू करने से दस मिनट पहले पी सकते हैं।

जब आपका खाना खत्म हो जाए तो हाथों को अच्छे से साफ करें और कुल्ला करलें। आधे या एक घंटे बाद आप पानी पी सकते हैं।

10. Dinner should be very light | रात का भोजन बहुत ही हल्का होना चाहिए।

रात का भोजन हमेशा हल्का ही करें। यदि आप चार रोटी खाते हैं तो उसमें से एक रोटी कम खाओ। आपका डिनर आठ बजे से पहले खत्म हो जाना चाहिए। देर रात तक खाना आपका पाचन खराब करता है।

आपका डिनर सोने से दो घंटे पहले हो जाना चाहिए। यानी आपको दस बजे तक हर हाल में सो जाना चाहिए। खाना खाने के बाद सौ से डेढ़ सौ कदम पैदल जरूर चलें। यह हमारे पाचन तंत्र और हार्ट को फिट रखता है।

सोने से पहले हल्दी वाला हल्का गुनगुना दूध पी कर सोएं। दूध के साथ यदि आप चाहें तो गुड़ के सकते हैं। चीनी को अवॉइड करें। खाने के बाद दांतों को ब्रश जरूर करें। सोने से पहले आपकी मनपसंद किताब को जरुर पढें। ये आदत बहुत अच्छी है।

यदि आप छात्र हैं तो अपने सब्जेक्ट की बुक पढ़ सकते हैं। यह daily routine सबके लिए फायदेमंद है इसे सभी अपनाएं और अपना जीवन स्वस्थ और समृद्ध बनाएं।

11. Analysis of last week’s work | पिछले सप्ताह के काम का विश्लेषण।

Daily routine analysis of last week's work

कहते हैं कि अगर आपका देखने का नजरिया अच्छा है तो ये दुनिया बहुत खूबसूरत है। बहुत से लोग दूसरों में कमियां निकालते हैं। खुद के अंदर कोई झांक कर नहीं देखता। इसलिए बहुत से लोग अपने करियर में असफल हो जाते हैं। क्योंकि वे खुद को और अपने काम को परखना नहीं चाहते या यों कहें कि जानते ही नहीं।

खुद में कमियां निकालना कोई बुरी बात नहीं हैै, इससे आपकी खूबियां निखरती हैं। इसी प्रकार अपने वीकेंड पर पिछले सप्ताह के कार्यों का विश्लेषण जरूर करें। इससे आपको अपने कार्यों में हुई त्रुटियां पकड़ में आयेंगी जिनसे आप आगे के लिए सावधान हो सकते हैं।

दोस्तो हमारा ये Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या। लेख आपको कैसा लगा? हमें कमेंट करके जरूर बताएं क्योंकि आपके कमेंट हमारे लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण हैं। और यदि ये जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

—🙏 धन्यवाद 🙏—

2 thoughts on “Daily routine in Hindi | दैनिक दिनचर्या।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.